आज एकादशी व्रत पारण 2022

एकादशी व्रत पारण हिंदी

एकादशी के व्रत का पारण द्वादशी तिथि समाप्त होने से पहले करना अति आवश्यक हैं। द्वादशी तिथि के समाप्त होने से पहले पारण नहीं करना एक पाप के सामान माना जाता हैं।

आज का एकादशी व्रत समय

आज एकादशी कितने बजे से शुरू है | आज एकादशी कब तक है

हिन्दू धर्म में एकादशी का एक अलग ही महत्त्व है इसमें भगवान विष्णु की पूजा और आराधना की जाती है।

आज की एकादशी व्रत कथा

आज की एकादशी व्रत कथा सुनाएं - Today's Ekadashi Vrat Katha in Hindi Aaj

हर एक साल में कुल 24 एकादशी होती है यानि हर महीने में दो एकादशी, लेकिन जब अधिकमास मल मास आता है तो संख्या साल में 26 हो जाती है।